विश्व का 10 प्रसिद्ध मंदिर कौन कौन है और कहां है

विश्व का 10 प्रसिद्ध मंदिर कौन कौन है और कहां है

हेलो दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि विश्व का 10 प्रसिद्ध मंदिर कौन कौन है और कहां है जब आप इस आर्टिकल को शुरू से लेकर लास्ट तक देखिएगा तब आपको विश्व के 10 प्रसिद्ध मंदिर के बारे में जानने का मौका मिलेगा तो चलिए आर्टिकल को स्टार्ट करते हैं


विश्व का 10 प्रसिद्ध मंदिर कौन कौन है और कहां है

  1. अंग्कोर वाट, कंबोडिया
  2. मेचू, नेपाल
  3. विष्णु मंदिर, भारत (ब्रह्म मंदिर, कोनार्क स्थित दूसरा उल्लेखनीय मंदिर है)
  4. श्री राम मंदिर, भारत (अयोध्या)
  5. अक्षरधाम मंदिर, भारत (गुजरात)
  6. महाबोधि मंदिर, भारत (बोधगया)
  7. प्रमाणं मंदिर, कंबोडिया
  8. काशी विश्वनाथ मंदिर, भारत (वाराणसी)
  9. अक्षरधाम मंदिर, भारत (दिल्ली)
10• ग्रेट मंदिर, कम्बोडिया


 Note:- अगर आपको विस्तार में जानना है तो आप नीचे पढ़ सकते हैं

1• अंग्कोर वाट, कंबोडिया 






अंग्कोर वाट, कंबोडिया, विश्व के सबसे प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों में से एक है। यह हिंदू और बौद्ध धर्म का महत्वपूर्ण स्थल है और एक विश्व धरोहर स्थल के रूप में संरक्षित है। अंग्कोर वाट, 12वीं शताब्दी में बनाया गया था और यह खजुराहो और कोनार्क के मंदिरों के साथ संबंधित है। इसकी विशेषता उसकी विशालता, सुंदरता, और विस्तृत स्थापत्य शैली में है। यह एक महान इंजीनियरिंग कारागार का उदाहरण है जिसमें पत्थर को बड़े स्थानों पर कटा और रखा गया है। अंग्कोर वाट को 1992 में यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर स्थल के रूप में मान्यता दी गई थी।


2• मेचू, नेपाल


मेचू नेपाल का एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है जो हिमालयन पहाड़ियों में स्थित है। यह बौद्ध धर्म का महत्वपूर्ण केन्द्र है और विश्व भर में पर्यटकों की धार्मिक यात्राओं का मुख्य गंधविष्ट स्थल है। मेचू मन्दिर समुद्र तल से लगभग 3,710 मीटर (12,172 फीट) की ऊँचाई पर स्थित है। यह मन्दिर नेपालको मेचू गाउँगाउँपालिका, सोलुखुम्बु जिल्ला में स्थित है।


मेचू मन्दिर नेपाली बौद्ध धर्म के लिए एक प्रमुख तीर्थ स्थल है, जहां बौद्ध धर्म के श्रद्धालु ध्यान और पूजा के लिए आते हैं। मेचू मन्दिर के आसपास कई छोटे-बड़े धार्मिक स्थल हैं, जो इसे एक धार्मिक और पर्यटन स्थल के रूप में प्रसिद्ध बनाते हैं।


मेचू मन्दिर नेपाली संस्कृति, विरासत और स्थानीय धरोहर का महत्वपूर्ण हिस्सा है, जिसमें यह एक महत्वपूर्ण स्थल है जहां धार्मिक और सांस्कृतिक आयोजनों का आयोजन किया जाता है। इसके अलावा, यह प्राकृतिक सौंदर्य के लिए भी प्रसिद्ध है, जिसमें पर्वतीय दृश्य, हिमालय की शिखरों की चोटियाँ और वन्य जीवन शामिल है।


3 • विष्णु मंदिर, भारत (ब्रह्म मंदिर, कोनार्क स्थित दूसरा उल्लेखनीय मंदिर है)


विष्णु मंदिर, भारत, भारतीय संस्कृति और धार्मिक धारावाहिकता का महत्वपूर्ण प्रतीक है। यह मंदिर भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित है और प्रमुख पिलगाँव के पास अयोध्या नगर में स्थित है। यह मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित है और उसके समर्पण के रूप में भारतीय हिंदू धर्म के अनुयायियों की महत्वपूर्ण श्रद्धा का केंद्र है।


विष्णु मंदिर अयोध्या के बहुमुखी सांस्कृतिक एवं ऐतिहासिक विरासत का एक महत्वपूर्ण अंग है। इसकी भव्यता और संगमर्मर की नक्काशी से अद्वितीयता के लिए प्रसिद्ध है। यह मंदिर के मुख्य गोपुर, अंतर्मंदिर, और गर्भगृह में अलग-अलग प्रकार की आर्किटेक्चरल विविधता और कला की श्रृंगारिकता को दर्शाता है।


कोनार्क में स्थित ब्रह्म मंदिर भी भारतीय संस्कृति का एक महत्वपूर्ण स्थल है। यह मंदिर खजुराहो के निकट स्थित है और उसकी विशेषता उसके ऐतिहासिक और संस्कृतिक महत्व के लिए है। ब्रह्म मंदिर का निर्माण 11वीं और 12वीं शताब्दी में हुआ था और यह भारतीय स्थापत्य शैली का एक उत्कृष्ट उदाहरण है। इसकी मूर्तियाँ, स्तूप, और अन्य आर्किटेक्चरल विशेषताएँ इसे एक अनूठा सांस्कृतिक संग्रहालय बनाती हैं।


4• श्री राम मंदिर, भारत (अयोध्या)




श्री राम मंदिर, भारत (अयोध्या), भारतीय इतिहास और सांस्कृतिक विरासत का एक महत्वपूर्ण प्रतीक है। यह मंदिर भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित है और हिंदू धर्म के प्रमुख स्थलों में से एक है। श्री राम मंदिर अयोध्या नगर में स्थित है, जो भगवान राम के जन्मस्थान के रूप में महत्वपूर्ण है।


श्री राम मंदिर का निर्माण भगवान राम के पुरातन मंदिर के स्थान पर हुआ है। यह मंदिर हिंदू धर्म के आदर्शों, रामायण के कथानक में और भारतीय संस्कृति के महत्वपूर्ण घटकों के लिए एक आधारभूत स्थल है।


श्री राम मंदिर निर्माण के लिए एक लंबे समय तक चर्चा और विवाद का विषय रहा है। इस मंदिर का निर्माण समर्थन और विरोध दोनों होते आए हैं, और इस परियोजना का पुनर्विचार समय-समय पर चला आ रहा है। अंततः, 2020 में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद, श्री राम मंदिर के निर्माण का कार्य शुरू हो गया। यह मंदिर अयोध्या के समृद्ध धार्मिक और सांस्कृतिक विरासत का एक महत्वपूर्ण प्रतीक बनाने का प्रयास है। ‌ इस मंदिर का उद्घाटन 2023 में किया गया था

 

5• अक्षरधाम मंदिर, भारत (गुजरात)




अक्षरधाम मंदिर, भारत (गुजरात), भारतीय सांस्कृतिक और धार्मिक धारावाहिकता का एक महत्वपूर्ण स्थल है। यह मंदिर गुजरात राज्य के सौराष्ट्र प्रांत में स्थित है और हिंदू धर्म के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक है।


अक्षरधाम मंदिर का निर्माण प्रमुख हिन्दू संत और धार्मिक नेता प्रमुख स्वामी नारायण ने किया था। यह मंदिर भगवान स्वामिनारायण और ने संतों को समर्पित है। इसका निर्माण साधु-संतों के सहयोग और गुजरात की स्थानीय जनता के सहयोग से किया गया है।


अक्षरधाम मंदिर का विशेषता यह है कि इसका निर्माण प्राकृतिक स्थलीय संगठन, स्थानीय वासियों और स्वयं साधु-संतों के द्वारा किया गया है। इसके विभिन्न भव्य संरचनाओं और स्थलों में भगवान के लीला के विविध आयामों का दर्शन किया जा सकता है। इसका एक और महत्वपूर्ण आकर्षण है उसकी आर्किटेक्चरल शैली, जो उत्कृष्ट और आधुनिक भारतीय संस्कृति का प्रतिबिंब है।


6• महाबोधि मंदिर, भारत (बोधगया),



महाबोधि मंदिर, भारत (बोधगया), बिहार राज्य में स्थित है और बौद्ध धर्म का एक प्रमुख स्थल है। यह मंदिर बोधगया नगर के केंद्र में स्थित है और गौतम बुद्ध के अनुयायियों के लिए एक प्रमुख धार्मिक और पर्यटन स्थल है।


महाबोधि मंदिर वहाँ स्थित है जहां गौतम बुद्ध ने बोधि प्राप्त की थी, और इसलिए यहां पर धार्मिक महत्व है। मंदिर का निर्माण बोधगया के महाबोधि मंदिर के स्थान पर हुआ है, जो कि बौद्ध धर्म के प्रमुख तीर्थ स्थलों में से एक है।


महाबोधि मंदिर का निर्माण विभिन्न युगों में हुआ है, और इसमें भारतीय और बौद्ध संस्कृति के विभिन्न आकार और शैलियां दिखाई जा सकती हैं। इस मंदिर के पास बौद्ध संग्रहालय भी है जो बौद्ध संदेश, संदेशात्मक आदि को समर्पित है। यहां हर साल बौद्ध धर्म के श्रद्धालु और पर्यटक आते हैं और महाबोधि मंदिर की शांति और ध्यान की वातावरण का आनंद लेते हैं।

7• प्रमाणं मंदिर, कंबोडिया


प्रमाणं मंदिर, कंबोडिया, अंग्कोर वाट समूह का एक अत्यंत महत्वपूर्ण और प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर अंग्कोर वाट क्षेत्र में स्थित है और खमेर संस्कृति का एक अद्वितीय उदाहरण है। प्रमाणं मंदिर का निर्माण खमेर इम्पीर के राजा जयवर्मन II द्वारा 12वीं शताब्दी में किया गया था।


प्रमाणं मंदिर का नाम "प्रमाणं" संस्कृत शब्द "प्रामाणिकता" से लिया गया है, जिसका अर्थ होता है "आदर्श" या "उदाहरण"। यह मंदिर बौद्ध धर्म के लिए महत्वपूर्ण है और अंग्कोर वाट समूह के अन्य मंदिरों के साथ मिलकर एक प्रमुख धार्मिक और सांस्कृतिक केंद्र का हिस्सा है।


प्रमाणं मंदिर की विशेषता इसके विशालता, शैली, और विस्तार में है। इसके सुंदर शिल्पकला, अलंकरण, और आर्किटेक्चरल विविधता को देखकर लोग प्रेरित होते हैं। प्रमाणं मंदिर विश्व धरोहर स्थल के रूप में यूनेस्को द्वारा मान्यता प्राप्त है।


8• काशी विश्वनाथ मंदिर, भारत (वाराणसी)




काशी विश्वनाथ मंदिर, भारत (वाराणसी), उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित है और हिंदू धर्म के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक है। यह मंदिर भगवान शिव के प्रमुख मंदिरों में से एक है और उत्तर भारत के सबसे पवित्र स्थलों में से एक है।


काशी विश्वनाथ मंदिर का निर्माण काशी नगर में स्थित है, जो कि हिंदू धर्म के सर्वोत्तम तीर्थ स्थलों में से एक है। यह मंदिर श्रद्धालुओं के लिए एक प्रमुख धार्मिक स्थल है और वाराणसी के कुछ पवित्र घाटों के पास स्थित है।


काशी विश्वनाथ मंदिर का निर्माण भगवान शिव को समर्पित है और यहां प्रतिदिन हजारों शिव भक्त आते हैं और पूजा अर्चना करते हैं। यहां पर हिंदू धर्म के प्रमुख त्योहारों और उत्सवों को भी धूमधाम से मनाया जाता है। काशी विश्वनाथ मंदिर को संस्कृत धरोहर स्थल के रूप में मान्यता प्राप्त है और इसे भारतीय संस्कृति का एक महत्वपूर्ण भव्य संग्रहालय माना जाता है।


9• अक्षरधाम मंदिर, भारत (दिल्ली)


अक्षरधाम मंदिर, जो कि भारत के दिल्ली में स्थित है, एक आध्यात्मिक स्थल है जो स्वामी नारायण धाम के नाम से भी जाना जाता है। यह मंदिर हिंदू धर्म के श्रद्धालुओं के लिए एक महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल है और यहाँ के मंदिर परिसर में स्वामी नारायण की मूर्ति है जिसकी पूजा और भक्ति की जाती है।


अक्षरधाम मंदिर का निर्माण प्रमुख साधु भगवान स्वामी नारायण द्वारा स्थापित किया गया था, और इसका उद्घाटन 2005 में हुआ था। यहाँ के मंदिर में संत स्वामी नारायण के जीवन के उदाहरणों और सन्देशों का विवरण भी है।


इस मंदिर का स्थान नोएडा के पास है, जो कि भारत की राजधानी दिल्ली से थोड़ी दूरी पर स्थित है। यहाँ पर आने वाले लोग आध्यात्मिकता की अनुभूति करते हैं और मंदिर के शांतिपूर्ण वातावरण में ध्यान और ध्यान में लगे रहते हैं।


10• ग्रेट मंदिर, कम्बोडिया


कम्बोडिया में "ग्रेट मंदिर" की बारेमें मुझे कोई जानकारी नहीं है। लेकिन कम्बोडिया में "अंग्कोर वाट" नामक विशाल और प्रसिद्ध मंदिर है, जो दुनिया भर में प्रसिद्ध है और कम्बोडिया की एक प्रमुख पर्यटन आकर्षण है।


अंग्कोर वाट कंबोडिया के एक प्राचीन शहर के भीतर स्थित है, और यह कार्तिक शासकों के समय में बनाया गया था। इसकी विशेषता उसके अद्वितीय खमेर स्थापत्य शैली और उसके विशाल और अद्वितीय संरचनों में है। अंग्कोर वाट एक UNESCO विश्व धरोहर स्थल है और यह कंबोडिया के राष्ट्रीय ध्वज का भी एक प्रतीक है।





Post a Comment

© Ankit asp. All rights reserved. Powered by Mrskt
n